Health: बायपोलर डिसऑर्डर क्या है? कारण, लक्षण और उपचार

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। क्या आपने कभी दैनिक जीवन में मूड, एनर्जी या एक्टिविटी लेवल में असामान्य बदलाव का अनुभव किया है? यदि जवाब हां है, तो हो सकता है कि आप बायपोलर डिसऑर्डर से ग्रसित हो। यह एक मानसिक विकार है जिसके कारण व्यक्ति मूड या एनर्जी के लेवल में अत्यधिक परिवर्तन का अनुभव करता है। कोई व्यक्ति कभी बहुत ज्यादा ऊर्जा, प्रसन्नता की स्थिति में होता है और कभी बिलकुल निराशा या डिप्रेशन की स्थिति में चला जाता है। बायपोलर डिसऑर्डर तीन प्रकार के होते हैं - बायपोलर I डिसऑर्डर, बायपोलर II डिसऑर्डर और साइक्लोथाइमिक डिसऑर्डर। तीनों प्रकारों में, एक व्यक्ति मूड और एनर्जी के स्तर में स्पष्ट परिवर्तन से गुजरता है।

बायपोलर डिसऑर्डर के कारण क्या हैं?
यूनाइटेड किंगडम की नेशनल हेल्थ सर्विस के अनुसार, डिसऑर्डर के सटीक कारण के बारे में कोई स्पष्टता नहीं है। यह मुख्य रूप से या तो मस्तिष्क में रासायनिक असंतुलन या जेनेटिक और इन्वायरमेंटल कारकों के कारण हो सकता है। एनएचएस का कहना है कि बायपोलर डिसऑर्डर को व्यापक रूप से मस्तिष्क में रासायनिक असंतुलन का परिणाम माना जाता है। यह बताता है कि एक व्यक्ति एक ही रसायन नोरैड्रेनलाइन के अत्यंत निम्न स्तर के परिणामस्वरूप डिप्रेशन या बहुत अधिक स्तर के कारण प्रसन्नता की स्थिति में होता है। अगर परिवार में किसी को बायपोलर डिसऑर्डर हो तो दूसरे सदस्य में भी ये डिसऑर्डर हो सकता है। शारीरिक बीमारी, नींद की गड़बड़ी या रोजमर्रा की जिंदगी की समस्याएं भी बायपोलर डिसऑर्डर को ट्रिगर कर सकती हैं।

बायपोलर डिसऑर्डर के लिए उपचार क्या हैं?
नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ मेंटल हेल्थ के अनुसार, बायपोलर डिसऑर्डर से पीड़ित लोग उचित निदान और उपचार की मदद से एक्टिव और स्वस्थ जीवन जी सकते हैं। बीमारी के उपचार में दवा और मनोचिकित्सा दोनों शामिल हैं, जिसे टॉक थेरेपी भी कहा जाता है। चूंकि यह जीवन भर चलने वाली बीमारी है, इसके लक्षणों को दवाओं के उपयोग से मैनेज किया जा सकता है, जिसमें मूड स्टेबलाइजर्स और दूसरी पीढ़ी के एंटीसाइकोटिक शामिल हैं। डॉक्टर बायपोलर डिसऑर्डर में डिप्रेसिव एपिसोड के लिए एंटीडिप्रेसेंट्स भी प्रिसक्राइब करते हैं। इसके अलावा, लोगों को नियमित व्यायाम करने और स्वस्थ जीवन शैली को बनाए रखने की भी सलाह दी जाती है।

बायपोलर डिसऑर्डर टेस्ट
बायपोलर डिसऑर्डर के लिए ऐसा कोई खास परीक्षण नहीं है, लेकिन इंटरनेट पर क्विज़ की किस्में हैं जो यह पता लगाने में मदद कर सकती हैं कि क्या कोई बीमारी से पीड़ित है। यहां तक ​​कि जब आप मनोचिकित्सक के पास जाते हैं, तो वह यह जानने के लिए कुछ सवाल पूछता है कि क्या आपको बायपोलर डिसऑर्डर है। वे आपको अंडरएक्टिव थायराइड या ओवरएक्टिव थायराइड के लेवल का पता लगाने के लिए शारीरिक परीक्षण से गुजरने के लिए भी कह सकते हैं। ऐसे कई लोग है जिन्होंने बायपोलर डिसऑर्डर के बावजूद काफी प्रसिद्धि हासिल की है। इस सूची में रैप गायक हनी सिंह, प्रसिद्ध अमेरिकी अभिनेत्री मर्लिन मुनरो, अभिनेत्री कैथरीन ज़ेटा-जोन्स और मंच और फिल्म अभिनेत्री विवियन लेघ शामिल हैं।



.Download Dainik Bhaskar Hindi App for Latest Hindi News.
.
...
What Is Bipolar Disorder? Causes, Symptoms and Treatment
.
.
.


from दैनिक भास्कर हिंदी https://ift.tt/3lQgpGe
via IFTTT

No comments