रिसॉर्ट से कम नहीं है यह सरकारी अस्पताल, युवा डॉक्टर ने बदली तस्वीर



डिजिटल डेस्क छिन्दवाड़ा/ पांढुर्ना।  पांढुर्ना विकासखंड के ग्राम मांगुरली का प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र अपनी सुंदरता, स्वच्छता और सुविधाओं से मरीजों के अलावा राहगीरों को भी अपनी ओर आकर्षित करता है। मांगुरली में मौजूद स्वास्थ्य केन्द्र को अन्य सरकारी अस्पतालों और स्वास्थ्य केन्द्रों से अलग बनाने का काम यहां पदस्थ डॉ.नितिन उपाध्याय ने किया है। डॉ.नितिन के साथ यहां के स्टाफ की मेहनत से यह स्वास्थ्य केन्द्र एक मॉडल बन गया है।
अस्पताल को मॉडल बनाने के लिए यहां कई छोटे-मोटे बदलाव करते हुए गार्डन से लेकर अस्पताल भवन की कई जरूरतों को व्यवस्थित किया गया है। गार्डन में हरियाली के लिए विविध प्रकार के पौधे लगाए गए है। भवन की मरम्मत के अलावा वाटर हार्वेस्टिंग प्रकल्प लगाकर पानी सहेजने का काम भी किया है। इस पर बहुत अधिक पैसे खर्च करने के बजाय डॉ.नितिन ने अपने बड़े भाई के वेयर हाउस में पड़ी अनुपयोगी चीजों और बाजार से खरीदकर लाई कुछ चीजों का इस्तेमाल किया। अस्पताल के अंदर दीवारों और गार्डन में तख्तियों पर पेंटिंग और स्लोगन लिखकर संदेश भी दिए है।
डॉ.नितिन उपाध्याय बताते है कि तीन साल पहले यहां पदस्थ होने के बाद सबसे पहले अस्पताल की बुनियादी जरूरतों और मरीजों के लिए जरूरी होने वाली चीजों पर काम किया। अस्पताल की सफाई और स्वच्छता पर ध्यान दिया। ओपीडी से लेकर ऑफिस रूम, दवाई कक्ष, ड्रेसिंग रूम, भर्ती कक्ष, टॉयलेट आदि बुनियादी चीजों को व्यवस्थित किया। गार्डन को आकर्षित बनाने यहां कई प्रजातियों के पौधे लगाए।
सुकून में मिलता है -
डॉ.नितिन ने गार्डन के बीचों-बीच एक कॉटेज बनाया है, जिसे सुकून नाम दिया है। डॉ.नितिन का कहना है कि अस्पताल में आए मरीजों और अन्य लोगों को यहां बैठकर सुकून मिले, इसके लिए यह बनवाया है। गार्डन की दीवारों पर संदेश देने वाले विविध चित्र तैयार किए गए है। वे कहते है कि अच्छे स्वास्थ्य के लिए गांव के पास सरकारी अस्पताल ही एकमात्र सहारा है, ऐसे में उन्हें बेहतर सेवाएं देने के लिए यह छोटा-सा प्रयास किया है। जिसके सफल होने और प्रशंसा मिलने से खुशी मिल रही है।
शासन की राशि का किया सही उपयोग-
यहां की व्यवस्थाओं को देखकर हर कोई इसके अस्पताल होने का एहसास ही छोड़ देता है। एसडीएम सुश्री मेघा शर्मा ने भी केन्द्र का दौरा करते हुए व्यवस्थाओं को सराहा और डॉ.नितिन के प्रयासों की प्रशंसा की। एसडीएम ने मांगुरली पीएचसी के किसी रिसॉर्ट से कम नही होने की भी बात कही। सरकारी अस्पतालों के मरम्मत और रखरखाव के लिए शासन से मिलने वाले रुपयों के सही इस्तेमाल से मांगुरली स्वास्थ्य केन्द्र लोगों को सुविधाओं के साथ-साथ राहत प्रदान करने का काम कर रहा है।



.Download Dainik Bhaskar Hindi App for Latest Hindi News.
.
...
This government hospital is no less than a resort, the young doctor changed the picture
.
.
.


from दैनिक भास्कर हिंदी https://ift.tt/3hLo2vw
via IFTTT

No comments