फ्लाई ओवर के लिए पीएण्डटी की दीवार अलग करके चाहिए अब 20 फीट जमीन

डिजिटल डेस्क जबलपुर । दमोहनाका-मदन महल फ्लाई ओवर की जो सड़क रानीताल से गढ़ा की ओर जाएगी उसके लिए पीएण्डटी की दीवार तोडऩी पड़ेगी। दीवार हटाकर 20 फीट की जगह पिलरों के लिए चाहिए तभी फ्लाई ओवर से सड़क सुविधा पूर्वक इस मार्ग पर उतर सकती है। दीवार हटाकर 20 फीट जगह के लिए लोक निर्माण विभाग को लेकिन लंबी प्रक्रिया से गुजरना होगा। दीवार अलग करके जो जरूरत के लिए भूमि चाहिए उसके लिए लोक निर्माण विभाग ने दूर संचार निर्माण के अधिकारियों से पत्र व्यवहार कर चर्चा तो की है लेकिन फैक्ट्री प्रबंधन की ओर से अभी तक कोई उत्तर इसको लेकर नहीं दिया गया है। पीएण्डटी प्रबंधन ने शुरूआती चर्चा में बस इतना कहा है कि सड़क चौड़ीकरण के समय जो पूर्व में जगह दी गई है, उसको लेकर मुआवजा नगर निगम ने अभी तक नहीं दिया है। उसके स्वामित्व वाली जगह है जिसका पूर्व में मुआवजा दिया जाना चाहिए था। 
इधर प्रबंधन की ओर से कोई उत्तर न मिलता देख लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों का कहना है कि निर्माण बड़ा है और आने वाली पीढियों को देखते हुये फ्लाई ओवर का निर्माण किया जा रहा है, इसलिए सार्वजनिक हित को देखते हुये सहयोग करना चाहिए। यदि पीएण्डटी प्रबंधन सहयोग नहीं करता है तो जिला प्रशासन से मदद लेकर इसकी प्रक्रिया को आगे बढ़ाया जाएगा। कुल मिलाकर रानीताल से गढ़ा मार्ग पर फ्लाई की ओर से जो सड़क उतरेगी उसके लिए जमीन सहज रूप में नहीं मिल सकती है। यह संभव है कि इसके लिए लंबी प्रक्रिया से गुजरना होगा और इसमें निर्माण टारगेट भी आगे बढ़ सकता है। 
पहले ली गई 10 फीट जमीन 8ननि ने रानीताल चौक से गढ़ा और गेट नबंर चार से स्नेह नगर मार्ग को कुछ साल पहले चौड़ा किया था, तो भूमि के लिए दोनों हिस्सों में पीएण्डटी की दीवार को  तोड़ा गया था। इस प्रोसेस में एक तरफ करीब 15 फीट तो दूसरी तरफ 10 फीट जगह पूर्व में ली जा चुकी है। अब मामला सार्वजनिक हित का है जिससे एक बार फिर इसको तोड़ा जाना तय है। लोनिवि. ने इसका प्रारंभिक खाका तैयार किया है कि यदि 20 फीट के करीब जमीन ली गई तो कितना मुआवजा उसे पीएण्डटी प्रबंधन को देना पड़ेगा। रानीताल चौराहा गढ़ा की ओर से 500 मीटर के दायरे में जमीन की जरूरत है। 



.Download Dainik Bhaskar Hindi App for Latest Hindi News.
.
...
For flyover, P&T wall should now be separated by 20 feet
.
.
.


from दैनिक भास्कर हिंदी https://ift.tt/31bJvGS
via IFTTT

No comments